VIDEO: बिहार म्यूजियम में दो दिनी Sports कॉन्क्लेव 2022 शुरू, DG बोले- हमें गुरुओं की तलाश है

बिहार म्यूजियम में दो दिनी बिहार स्पोर्ट्स कॉन्क्लेव 2022 की शुरुआत हो गई। इसमें शामिल हो रहे कई खेलों के दिग्गज कोच और खिलाड़ियों को बिहार राज्य खेल विकास प्राधिकरण की ओर से सम्मानित किया गया। बिहार सरकार के कला संस्कृति और युवा विभाग के मंत्री डॉ आलोक रंजन, विभाग की सचिव वंदना प्रेयसी, डीजी रविंद्रन शंकरण और एमएलसी व अंतरराष्ट्रीय शूटर श्रेयसी सिंह ने अतिथि खेल दिग्गजों को सम्मानित किया।

इस अवसर पर खेल डीजी रविंद्रन शंकरण ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चाहते हैं कि बिहार में खेल जन आंदोलन बने और यह कार्यक्रम उसी को आगे बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। डीजी ने अपने संबोधन में कहा कि मैं इसके लिए सत्तू बांधकर पूरे बिहार के कई जिलों में घूमा और बिहार में खेल की प्रतिभाओं और उसकी संभावनाओं की तलाश की है।

बिहार में जूनियर लेवल पर खेल की प्रतिभाओं को देखकर हम सभी आश्चर्यचकित हैं लेकिन यह प्रतिभा है आगे नहीं बढ़ पा रही हैं। इन प्रतिभाओं को अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाना है। इसके लिए हमें गुरुओं की तलाश है। उन्होंने कहा कि ग्यारह निगम के साथ अलग-अलग वैसे खेलों को जोड़ा गया है जो ओलंपिक में खेले जाते हैं।

हम देश भर से यहां पहुंचे गुरुओं का हाथ पकड़कर आगे बढ़ना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि वे हमें 2028 के ओलंपिक तक ले चलें। इस आयोजन के बाद एक डॉक्यूमेंट तैयार किया जाएगा और उसी अनुसार बिहार की खेल प्रतिभाओं को ओलंपिक के लिए तैयार किया जाएगा। कॉन्क्लेव में बिहार के खेल इतिहास से जुड़ी 3 मिनट की लघु फिल्म भी दिखाई गई।