परिवहन विभाग ने बनाया प्लान, पटना में अब रूट के हिसाब से चलेंगे ऑटो और ई रिक्शा

राजधानी को जाम और प्रदूषण से बचाने के लिए परिवहन विभाग ने ऑटो और ई रिक्शा चलाने का नया रूट प्लान तैयार किया है। पटना में किस रूट पर कितने ऑटो चलेंगे, किस रंग के होंगे, इसका निर्धारण की कवायद परिवहन विभाग ने शुरू कर दी है। इतना ही नहीं, रूट के आधार पर ही ऑटो और ई-रिक्शा को परमिट दिया जाएगा।

इसके साथ ही प्रत्येक रूट पर चलने वाले ऑटो और ई-रिक्शा का अलग कोड होगा। कोड के साथ लोगो भी दिया जाएगा ताकि एक रूट का ऑटो दूसरे रूट पर नहीं चल सके। इससे अनावश्यक गाड़ियों के बोझ से सड़क को राहत मिलेगी। जाम से मुक्ति मिलेगी।

परिवहन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राजधानी के शहरी क्षेत्र में 17 हजार से अधिक सीएनजी ऑटो चल रहे हैं। जबकि ऑटो की कुल संख्या 35 हजार से अधिक है। ई-रिक्शा की संख्या 11 हजार 593 है। राजधानी में ई-रिक्शा का भी न तो रूट निर्धारित है और न किराया निर्धारत है। इससे राजधानी में कई सड़कों पर जाम की स्थिति हो जाती है।

सबसे अधिक ऑटो का परिचालन नेहरू मार्ग पर होता है। इसके अलावा ऑटो और ई-रिक्शा अशोक राजपथ, गांधी मैदान से दीघा, दानापुर, पटना जंक्शन से बोरिंग रोड, पटना जंक्शन से फुलवारीशरीफ, पटना जंक्शन से कंकड़बाग, गायघाट, हनुमान नगर के लिए चलते हैं। इसके अलावा ई-रिक्शा का परिचालन सबसे अधिक गांधी मैदान से पटना सिटी के लिए हो रहा है।