डोरंडा कोषागार मामले में राजद सुप्रीमो लालू यादव को मिली जमानत, राजद परिवार में जश्न का माहौल

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाला मामले में बड़ी राहत मिली है। डोरंडा कोषागार मामले में पांच साल की सजा पाए लालू यादव को झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। बता दें कि डोरंडा ट्रेजरी मामले से संबंधित है जिसमें उन्हें 21 फरवरी को पांच साल की सजा सुनाई गई थी। लालू यादव के वकील की ओर से आरजेडी सुप्रीमो की बीमारी, उम्र और आधी सजा जेल में काटने का हवाला देते हुए जमानत की गुहार लगाई गई थी।

हाईकोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने लालू प्रसाद की जमानत याचिका स्वीकार कर ली ह। लालू प्रसाद यादव को जमानत मिलने के बाद राष्ट्रीय जनता दल की झारखंड इकाई के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार ने कहा कि हमारी पार्टी को न्यायपालिका पर पूरा भरोसा था। लालू प्रसाद के वकील प्रभात कुमार ने कहा कि हमने लंबी लड़ाई जीती हैं। हालांकि अदालत ने 10 लाख रुपये जुर्माना जमा करने का आदेश दिया है।

गौरतलब हो कि राजद अध्यक्ष इससे पहले चारा घोटाले के तहत डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन मामले में दोषी करार दिए गए थे। लालू प्रसाद यादव को विशेष सीबीआई अदालत ने पांच साल सश्रम कारावास और 60 लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई थी।

बता दें कि झारखंड हाईकोर्ट ने आधी सजा पूरी होने के आधार पर लालू यादव को जमानत दी है। नियमानुसार जमानत के लिए जेल में 30 महीने की सजा काटनी थी। लेकिन लालू यादव डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में 42 महीने सजा काट चुके हैं। लालू यादव फिलहाल बीमार हैं और दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा है। इस खबर से लालू यादव के परिवार और उनके समर्थकों में ख़ुशी की लहर दौड़ गई है।