भागलपुर में लोगों ने BJP विधायक को बंधक बना छीना मोबाइल, पहुंचे थे उपलब्धि बताने

भागलपुर के बिहपुर विधानसभा से भाजपा विधायक ई शैलेंद्र आज नरेंद्र मोदी के 8 साल के कार्यकाल की उपलब्धियों को गिनाने खरीक के लोकमानपुर गांव पहुंचे थे, जहां विधायक ई शैलेंद्र को आक्रोशित ग्रामीणों के ग़ुस्से का सामना करना पड़ा। यहां ग्रामीणों ने करीब दो घण्टे तक विधायक को बंधक बनाया और कमरे में बंद कर दिया।

दरअसल जिस क्षेत्र में विधायक जी उपलब्धि गिनाने के लिए पहुंचे थे उस क्षेत्र की जनता हर वर्ष बाढ़ और कटाव का दंश झेलती है। इस बार भी अब तक कटाव निरोधी कार्य शुरू नहीं हो सका इससे आक्रोशित लोगों ने विधायक जी को घेर कर बंधक बनाया इतना ही नहीं बल्कि उनका एक फोन भी जब्त कर लिया। विधायक ने पहले इसकी जानकारी खुद फेसबुक पर पोस्ट कर जानकारी दी।

इसके बाद उन्होंने बयान देते हुए बताया कि हम मोदी सरकार के आठ साल की उपलब्धियों को लेकर व आगामी 13 जून को भागलपुर में होने वाले कार्यक्रम की सूचना देने लोक मानपुर पहुंचे थे लेकिन कटाव निरोधी कार्य की मांग को लेकर लोगों में आक्रोश था और उन्होंने मुझे नजरबंद कर दिया। बहुत दुख है कि जनता ने मुझे नजरबंद किया है। मैंने इस क्षेत्र के कटाव का मामला विधानसभा में भी रखा था। विधायक को बंधक बनाए जाने की खबर फैलते ही पूरे जिले में सनसनी मच गयी।

बड़ी संख्या में समर्थक लोकमानपुर की तरफ रवाना हो गए जबकि एक वीडियो संदेश जारी कर विधायक ने ग्रामीणों की मांग को सही ठहराया है। विधायक ने कहा कि कोसी पार की बड़ी आबादी कोसी नदी के कटाव से प्रभावित है। जिसके लिए उन्होंने पिछले दिनों कोसी पार के लोकमानपुर, सिंहकुंड, बालू टोला, मैरचा, कहारपुर में कटाव निरोधी कार्य को लेकर विधानसभा में दो बार मामले को उठाया। लेकिन किसी कारण इस वर्ष इन जगहों पर अब तक कोसी कटाव रोकने के लिये कार्य शुरू नहीं हो सका।