नीतीश कुमार ने कहा, कोरोना की बूस्‍टर डोज को नहीं देने होंगे पैसे, सरकार उठाएगी खर्च

कोविड टीकाकरण को लेकर बिहारवासियो के लिए बड़ी राहत देने वाली खबर है। राज्‍य में कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण कराने वालों को किसी भी डोज के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा। बिहार सरकार ने इस पर निर्णय ले लिया है। सरकारी अस्‍पतालों में कोविड वैक्‍सीन की पहली दो डोज की तरह टीके की तीसरी डोज यानी प्रिकाशन डोज के लिए भी बिहार के लोगों को कोई पैसा नहीं देना होगा।

प्रदेश में अब तक 60 से अधिक आयु वाले नागरिकों को मुफ्त सतर्कता डोज दी जा रही थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। बता दें कि बैठक में कुल 26 प्रस्ताव स्वीकृत किए गए।

स्वास्थ्य विभाग के एक अन्य प्रस्ताव पर मंत्रिमंडल ने मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के पात्र परिवारों के प्रत्येक परिवार को पांच लाख रुपये की स्वास्थ्य सुरक्षा देने का प्रस्ताव भी मंजूर किया। मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के वैसे लाभार्थी परिवार जो आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के लाभार्थी नहीं हैं, उन्हें प्रति परिवार हर साल पांच लाख तक की स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान की योजना मंजूर की है। मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से प्रारंभ की जाने वाली योजना बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति के माध्यम से इंश्योरेंस मोड में संचालित की जाएगी।