त्रिपुरा के 11वें CM के रूप में माणिक साहा ने ली शपथ, 6 साल पहले थामा था BJP का दामन

माणिक साहा त्रिपुरा के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं। राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने एक सादे समारोह में साहा को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी। उन्हें बिप्लव देव के इस्तीफे के बाद भाजपा ने यह जिम्मेदारी सौंपी है। साहा ने अकेले ही शपथ ली। मुख्यमंत्री के अचानक बदलने से विधायकों और पार्टी पदाधिकारियों के बीच बड़े पैमाने पर कथित असंतोष की स्थिति बनी हुई है।

पार्टी ने अभी तक उनके कैबिनेट सदस्यों की सूची को अंतिम रूप नहीं दिया है। मिली जानकारी के अनुसार बिप्लव कुमार देव के मंत्रिमंडल में उपमुख्यमंत्री जिष्णु देव वर्मा और राम प्रसाद पॉल सहित तीन पूर्व मंत्री तथा कई विधायक शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहे।

सीएम बनने के बाद साहा ने कहा, ”हम पीएम मोदी और बीजेपी के विकास के मुद्दे को लेकर आगे बढ़ेंगे। हम त्रिपुरा के लोगों के मुद्दों को हल करने के साथ-साथ राज्य में कानून-व्यवस्था को भी बढ़ाएंगे। हमारे लिए कोई राजनीतिक चुनौती नहीं है।”बता दें कि साहा कांग्रेस छोड़कर 2016 में भाजपा में शामिल हुए थे।

भाजपा में आने के बाद माणिक को चार साल बाद 2020 में प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बनाया गया। वह त्रिपुरा क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी बने। साहा को हाल ही में राज्यसभा के लिए नामांकित किया गया था और अब उन्हें नए सीएम के रूप में घोषित किया गया है।