लोकपाल ने क्रिकेट गतिविधियों के संचालन पर नहीं लगाया रोक समय पर संपन्न होगा लीग: सुनील रोहित

लोकपाल की नजर में भले ही पटना जिला क्रिकेट संघ की दोनों कमेटियां अवैध है लेकिन क्रिकेट की गतिविधियां जिले में बंद नहीं होगी। क्योंकि खेल ग्राउंड पर होता है। इसलिए तय समय पर पटना जिला क्रिकेट संघ के द्वारा संचालित जूनियर व सीनियर डिवीजन क्रिकेट लीग संपन्न होगी। निर्धारित तिथि को पुरस्कार सम्मान समारोह भी संपन्न होगा। उक्त बातें जिला क्रिकेट संघ के सचिव सुनील कुमार उर्फ सुनील रोहित ने बिहार क्रिकेट संघ के लोकपाल द्वारा शनिवार की शाम दिए गए फैसले पर कहीं।

लोकपाल के फैसले की जानकारी देते हुए सचिव सुनील कुमार ने कहा कि लोकपाल का फैसला विचारणीय है। पटना जिला क्रिकेट संघ लोकपाल के दिए गए निर्णय पर लीगल जानकारी लेकर क्रिकेट की हित में काम करेगी। आवश्यकता पड़ी तो कोर्ट के शरण में जाएगी। सचिव सुनील रोहित का कहना है कि पिछला चुनाव 13 जुलाई 2008 को 2 वर्षों की अवधि के लिए हुआ था।

लगभग 13 वर्षों से अधिक बीत जाने के बाद यह चुनाव संपन्न हुआ है। संघ के लगभग 57 पूर्ण सदस्यों क्लबों में से लगभग 45 सदस्यों ने 30 सितंबर 2021 को संपन्न विशेष आम बैठक में जल्द से जल्द चुनाव कराने के लिए अधिकृत किया था। इसी को ध्यान में रखते हुए पीडीसीए के सीओएम के भंग हो जाने के 45 दिनों में चुनाव संपन्न कराया गया था। यह चुनाव सुनील कुमार एवं अरूण सिंह के द्वारा पटना हाई कोर्ट में दर्ज केस वापस लेने के बाद कराया गया।

अजय नारायण शर्मा और राजेश कुमार द्वारा संचालित अवैध कमेटी क्रिकेट के संविधान की अवहेलना लंबे समय से करते हुए सिर्फ अपने स्वार्थ तथा पटना जिला के क्रिकेट को बर्बाद करने के लिए काम करते आ रही है। इनका क्रिकेट से और क्रिकेटरों के विकास से कोई लेना देना नहीं है।