RRB Group D पदों पर चयन और अप्रेंटिसशिप को लेकर अहम सूचना जारी

रेलवे ग्रुप डी के एक लाख से ज्यादा पदों (103769) के लिए चल रही भर्ती प्रक्रिया में चयन के नियमों में बदलाव किए है। इन बदलाव नियमों को लेकर रेलवे ने अहम नोटिस जारी किया है। आरआरबी इलाहाबाद की वेबसाइट rrbald.gov.in पर जारी सूचना के अनुसार, सेंट्रलाइज्ड रोजगार नोटिस संख्या -01/2019 (Level-1 Posts) को प्रकाशित विज्ञापन में निम्नलिखित बदलाव किए गए हैं-

ग्रुप डी पदों के चयन में बदलाव:
1- अब रेलवे में अप्रेंटिस ट्रेनिंग पूरी कर चुके अभ्यर्थियों को नेशनल काउंसिल ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT) के अंकों का वेटेज दिया जाएगा। सीबीटी के बाद अभ्यर्थियों की फाइनल लिस्ट तैयार करने में एनसीवीटी के अंक भी जोड़े जाएंगे। ग्रुप डी भर्ती विज्ञापन के पैरा-12, पेज 17, 18 में रेलवे एक्ट अप्रेंटिस के संबंध में दिया प्रकाशित नियम के तहत इस प्रकार से अप्रेंटिस ट्रेनिंग पूरी कर चुके अभ्यर्थियों को चयन में वरीयता मिलेगी।


2- सीईएन 01/20219 भर्ती विज्ञापन के पैरा-12, पेज 19, 20 के तहत शारीरिक दक्षता परीक्षा (PET) अभ्यर्थियों को देनी होगी। लेकिन जो अभ्यर्थी अप्रेंटिस कोर्स पूरा कर चुके हैं उन्हें शारीरिक दक्षता परीक्षा से छूट दी जाएगी। बता दें कि पूर्व में रेलवे ग्रुप डी व एनटीपीसी भर्ती परीक्षा के परिणाम को लेकर उठे विवाद में रेलवे ने कई बातें स्पष्ठ की थीं।


रेलवे ने ग्रुप डी भर्ती को लेकर प्रमुख बातें इस प्रकार हैं-

  • RRB Group D सीईएन आरआरसी-01/2019 (लेवल-1) में सिंगल स्टेज परीक्षा होगी। सीबीटी का कोई दूसरा चरण नहीं होगा।
  • लेवल -1 के लिए RRC के अनुसार CBT आयोजित किया जाएगा।
  • पर्सेंटाइल आधारित सामान्यीकरण, जो सरल और समझने में आसान है का उपयोग उन जगहों पर किया जाएगा जहां पालियों की संख्या एक से अधिक है।
  • ग्रुप डी के विभिन्न पदों के लिए भारतीय रेलवे चिकित्सा नियमावली मानकों का उपयोग किया जाएगा।
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (ईडब्ल्यूएस) के उम्मीदवारों के लिए कोई भी उपलब्ध आय और संपत्ति प्रमाणपत्र मान्य माना जाएगा।