पटना विश्वविद्यालय के इकबाल हॉस्टल में इफ्तार पार्टी का आयोजन,धार्मिक सौहार्द का दिया संदेश

रमजान का महीना चल रहा है। रमजान का महीना हर मुसलमान कि जिंदगी में बहुत मायने रखता है। इसमें इफ्तार का भी बहुत महत्व है। हर साल की तरह रमजान में एक ओर जहां सियासी पार्टियां के इफ्तार के चर्चे है। वहीं शनिवार को पटना विश्वविद्यालय के इकबाल हॉस्टल में भी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया। पार्टी शाम 06:17 शाम में शरबत और खजूर के साथ हुई। इसके बाद नमाज और एक सर्वधर्म सभा हुई।

आपको बता दें कि रमजान के महीने में रोजा नमाज के साथ खजूर का भी बहुत महत्व है। इस्लाम धर्म के लोगों की मान्यता है कि पैगंबर मोहम्मद अपना रोजा खजूर से ही खोला करते थे। कुरआन में भी कई बार खजूर का जिक्र किया गया है। यही वजह है दुनियाभर के मुसलमान खजूर खाकर ही अपना रोजा खोलते हैं। कई जगह रमजान का महीना शुरू होने की खुश होकर एक दूसर को उपहार के रूप में खजूर भी देते हैं। इसी महत्व के साथ इफ्तार में रोजा खजूर से खोला गया।


हॉस्टल में आयोजित इफ्तार में विश्विद्यालय के सभी हॉस्टल से बच्चों ने शिरकत की। वहीं इस मौके पर अधीक्षक डॉ. नकी अहमद जॉन ने बताया कि इफ्तार का आयोजन 2 वर्षों के अंतराल के बाद बहुत सफलता पूर्वक और खुशनुमा माहौल में हुआ। इस अवसर पर जैक्सन के अधीक्षक अविनाश कुमार, मजहरूल हक के अंग्रेजी विभाग के डॉ. नौशाद आलम, पटना कॉलेज के प्रो. नाजिम, बीएन कॉलेज के पीआरओ ईरशाद आलम, अभिरक्षक डॉ हीरा मंडल सर, पटना सायंस कॉलेज के मशहूर पीटीआई जावेद खान, साइकॉलजी के विभागाध्यक्ष प्रो. इफ्तेखार हुसैन, इकोनॉमिक्स विभाग के मनोज प्रभाकर, मशहूर चिकत्सक डॉ. खुर्शीद आलम, मशहूर ऑनलाइन शिक्षक खान सर, जन अधिकार पार्टी के पप्पू यादव जी शामिल होकर धार्मिक सौहार्द का संदेश दिया। हॉस्टल की और से इस आयोजन को सभी ने सराहा।