रिलायंस के साथ FUTURE GROUP की हुई 24 हजार करोड़ की डील रद्द

Spread the love

मुकेश अंबानी की रिलायंस और किशोर बियानी की फ्यूचर समूह की डील रद्द हो गई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज की ओर से बयान जारी कर इसका आधिकारिक ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही डील को लेकर ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन और फ्यूचर समूह के बीच चल रही कानूनी विवाद का भी समाप्त होने की उम्मीद है।


रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (एफआरएल) और फ्यूचर समूह की अन्य कंपनियों ने सौदे को शेयरधारकों एवं असुरक्षित कर्जदाताओं ने बहुमत से स्वीकार कर लिया है लेकिन सुरक्षित ऋणदाताओं ने प्रस्ताव को नकार दिया है। इस हालात में डील को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।

बता दें कि फ्यूचर समूह ने अगस्त 2020 में रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) के साथ 24,713 करोड़ रुपये के विलय समझौते की घोषणा की थी। इस डील के तहत खुदरा, थोक, लॉजिस्टिक एवं भंडारण खंडों में सक्रिय फ्यूचर समूह की 19 कंपनियों का रिलायंस रिटेल अधिग्रहण करने वाली थी।

परंतु डील की घोषणा के बाद से ही दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इसका विरोध कर रही थी। विभिन्न अदालती मुकदमों में अमेजन ने यह कहते हुए इस डील का विरोध किया कि उसके साथ हुए फ्यूचर समूह के निवेश समझौते का यह करार उल्लंघन करता है। फ्यूचर समूह के लिए यह डील काफी अहम मानी जा रही थी।