BPSC पेपर लीक मामले में अररिया के राजस्व पदाधिकारी को ईडी ने किया गिरफ्तार

अररिया जिले के भरगामा के राजस्व पदाधिकारी राहुल कुमार सिंह के रानीगंज स्थित निजी आवास में आर्थिक अपराध इकाई (ईडी) पटना टीम ने छापेमारी की गई। राहुल सिंह पर BPSC पेपर लीक में शामिल होने का आरोप है। उसे बीती रात गिरफ्तार किया जा चुका है। शनिवार की सुबह की गयी छापेमारी में रानीगंज पुलिस पदाधिकारी भी शामिल थी। राहुल कुमार सिंह के निजी आवास में की गई छापेमारी की गई।

राजस्व अधिकारी राहुल सिंह भरगामा में नौकरी करते हैं और रानीगंज में किराये के मकान में रहते हैं। ईडी ने उनके आवास से पैनकार्ड की कॉपी, बैंक पासबुक व परीक्षाओं के प्रश्नपत्र भी जब्त किए। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है।बताया गया कि पांच महीनो से राजस्व अधिकारी रानीगंज में रह रहे् थे। बीपीएससी पेपर लीक मामले में छापेमारी की आशंका जताई जा रही है।

छापेमारी दल के अधिकारियों ने कुछ भी बताने से किया इंकार। बताया गया कि 09 मई को पटना के आर्थिक अपराध इकाई में राहुल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई थी। पटना में ही राहुल को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनकी निशानदेही पर घर की चाभी लेकर ईडी यहां आई थी। आर्थिक अपराध इकाई का दावा है कि पेपर लीक कांड में शामिल सॉल्वर गैंग के सरगना पिंटू यादव से राहुल पर कुमार की सांठगांठ रही है।

राजस्व पदाधिकारी प्रशासनिक सेवा में जाने के लिए इस बार खुद परीक्षार्थी बना था और उसका सेंटर सिवान में था। आर्थिक अपराध इकाई की माने तो परीक्षा के एक घंटे पहले ही उसके पास क्वेश्चन पेपर पहुंच गया था और साथ ही आंसर शीट भी। आर्थिक अपराध इकाई के ADG नैयर हसनैन खान की माने तो BPSC पेपर लीक कांड में जांच का दायरा और बढ़ गया है।

सोमवार को इस पूरे मामले में इस मामले में आर्थिक अपराध इकाई कई अन्य लोगों के खिलाफ न्यायालय से वारंट लेगी। गौरतलब है कि बीपीएससी की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्न पत्र वायरल होने की सूचना पर आर्थिक अपराध इकाई ( EOU) जांच कर रही है। इसी क्रम में अभियुक्त राहुल कुमार राजस्व पदाधिकारी भरगामा अररिया को गिरफ्तार किया गया है।