NDA छोड़ने की अटकलों पर CM नीतीश ने लगाया विराम, अमित शाह को रिसीव करने पहुंच गए एयरपोर्ट

शुक्रवार को पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर आयोजित इफ्तार में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल क्या हुए, मानो पूरे बिहार की राजनीति गरमा गई। कोई इसे महागठबंधन की वापसी की तैयारी बताने लगा, तो किसी ने कहा कि यह भाजपा पर एक दबाव बनाने की कोशिश है।

हालांकि शनिवार को वीर कुंवर सिंह की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद सीएम मीडिया से बात कर रहे थे तो उन्होंने तमाम अटकलों पर विराम लगा दिया। उन्होंने इसे आधारहीन करार दिया।


वहीं नीतीश कुमार आज पटना एयरपोर्ट पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का स्वागत करने के लिए भी पहुंच गए। बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए तो यह आम बता हो सकती है, लेकिन नीतीश कुमार के शासन में नहीं। हाल के वर्षों में यह शायद पहला मौका होगा, जब वे किसी केंद्रीय मंत्री का स्वागत करने के लिए स्वयं पहुंचे हों।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री या फिर नए राज्यपाल की पहली यात्रा पर प्रोटोकॉल के तहत वह जाते हैं।आपको बता दें कि कल लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से जब इस आयोजन के राजनीतिक संबंधों पर चर्चा की गई तो उनका कुछ और ही कहना था। उन्होंने कहा कि यह राजनीति है। अटकलें लगना सामान्य बात है। तेजप्रताप यादव ने बिहार में सरकार बनाने का भी दावा किया। नीतीश जी के साथ गुप्त बातचीत हुई। आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज बिहार दौरे पर हैं।